healthhunt.in: Nutrition, Fitness, Organic Beauty, Mental Wellbeing, Love

Want To Know How Meghan Markle Looked So Fit At the Royal Wedding?

She keeps sipping on water throughout the day and makes sure to drink at least two to three litres of it. The princess loves to snack on green smoothies and apples with almond butter. Her lunch usually consists of high-protein vegan salads.

Nipah Virus Confirmed In Kerala After 3 People Die. Should You Be Worried?

“Nipah virus (NiV) infection is a newly emerging zoonosis that causes a severe disease in both animals and humans. The natural host of the virus are fruit bats of the Pteropodidae Family, Pteropus genus.

WHO Lists Essential Tests To Cut Premature Deaths

At present, there is a dearth of diagnostic services which leaves many people unable to get treated or diagnosed. Hence, WHO’s essential diagnostics list will help them address this problem and reduce premature deaths across the world.

A New Form of Diabetes Discovered In India By MedGenome Scientists

The significance of diagnosing monogenic forms of diabetes like MODY is that unless a correct diagnosis is made, patients can be wrongly diagnosed to have type 1 diabetes and advised to have unnecessary lifelong insulin injections.

7 Things Self-Motivated People Do Differently

Motivation is what keeps us going at the end of it. So even if you feel the lack of motivation, read on to know how to bring that spring back into your step.

What Your Mouth Says About Your Gut

So the gut is like a long conveyor belt that takes the food from the mouth and processes it along the way. Bacterial imbalances that begin in our mouth during tooth decay and gum disease echo throughout our digestive system and body.

Here’s Your Guide To Hypertension, Straight From A Cardiologist

It is said that 50 per cent patients with hypertension are not aware even of the condition, and out of the other half who are aware, only 50 per cent of them are on active treatment.

The Number 1 Rule For Healthy Relationships

Don’t tolerate disrespect in your relationship, and don’t disrespect anyone. Respect is when you give due regard to a person’s feelings, wishes, and rights. And if you respect someone, you will trust them with your life as well.

6 Ways to Boost Self-Love in 2018

While it is easy to get sucked into the bustle of daily life and lose sight of yourself and the bigger picture, the start of the year is a good time to reflect on what you want out of your life in 2018.

Natural Remedies For The Prevention Of Dry Eyes

The causes for a dry-eye syndrome are various—environmental factors, ageing, medical conditions as well as taking certain medications. While there a lot of treatments available for it, most of them will burn a hole through your pocket.

Firm skin acai exfoliating peel

A firming peel solution with cotton round pads for normal to dry or mature skin types. Hydrate your skin deeply and reduce the appearance of fine lines and wrinkles with this active, exfoliating peel solution.

Licorice Root Exfoliating peel

A results-oriented peel solution with cotton round pads that reduces the look of uneven pigmentation. Our Natural Hydroquinone Alternative from African potato and tara tree brighten the appearance of dark spots and hyperpigmentation.

Calm Skin Chamomile Peel

A gentle exfoliating peel solution with cotton round pads for sensitive skin types. Renew sensitive skin without irritation with lactic and mandelic acids.

Neroli Age Corrective Eye Serum

Nourish and hydrate the look of the delicate skin around your eyes. Neroli oil, coconut water and green apple stem cell technology fight the visible signs of aging, including the appearance of crow’s feet and fine lines.

Lavender Age Corrective Eye Cream

This rich, nourishing eye cream will help diminish the visible signs of aging overnight. Lavender and evening primrose provide aromatherapy benefits while the unique Anti-Aging Stem Cell Complex fight the appearance of crow’s feet.

Cucumber Eye Gel

Soothing cucumber and active herbal ingredients soothe and reduce the appearance of puffiness.

Hibiscus Ultra Lift Eye Cream

The Advanced Instant Lift fX eye treatment rapidly de-puffs tired eyes, smooths wrinkles and minimizes the appearance of dark under-eye circles.

Arctic Berry Pro Advanced Peel

Deeply exfoliates skin and refines and evens the look of skin tone. Contains very strong antioxidant and age-defying benefits which helps to reduce the appearance of inflammation and redness. It is part of

Acai Exfoliating Peel - Pro

A professional firming peel solution for normal to dry or mature skin types. Deeply hydrate and reduce the appearance of fine lines and wrinkles with this active, exfoliating peel solution.

Licorice Root Exfoliating Peel Pro

A professional peel solution that reduces the look of uneven pigmentation. Lactic and mandelic acids gently exfoliate dead skin cells while licorice root and our Natural Hydroquinone Alternative from African potato and tara tree reduce spots.

Lime Stimulating Masque

Revitalize and brighten your complexion with our Lime Stimulating Masque. The natural phytohormones and vitamins will leave your skin appearing rosy with increased circulation.*This mask will leave a normal redness for up to two hours after treatment.

Rosehip & Maize Exfoliating Masque

As the maize flour in this mask exfoliates, rosehip infuses the skin with high quantities of antioxidant vitamin C. Irritated skin is then soothed by honey and zinc oxide. A perfect remedy for sensitive and oily skin.

Almond & Mineral Treatment

The finely crushed almonds in this treatment gently exfoliate to uncover soft, gorgeous looking skin. Combine that with paprika and ground ivy, and you’ll be left with a rosy looking complexion.

Willow Bark Exfoliating Peel

A deep-cleansing, clarifying peel solution with cotton round pads for problem skin types. Clarifies and refines the complexion without irritation while reducing the appearance of blemishes.

Yam & Pumpkin Enzyme Peel 5%

Reduces the appearance of pigmentation, fine lines and sun damage. This delicious purée of yam and pumpkin leaves skin looking firm and radiant.

Health Hunt Please change Orientation

Want to unlock the secrets of holistic health?

Yes, tell me more No, I like living in oblivion
अगर आपके ब्रांड का ध्येय सबको स्वस्थ और सुखी रखने का है तो हमारे इवेंट “फ्यूचर ऑफ़ वैलनेस” को ज्वाइन करें यहाँ क्लिक करें
3
Notifications Mark all as read
No notifications found !
हमारे साथ साझा करें
  • English
  • हिन्दी
  • सभी
  • पोषण
  • फ़िटनेस
  • आर्गेनिक ब्यूटी
  • मानसिक स्वास्थ्य
  • प्रेम
    • English
    • हिन्दी

0 New Card

ट्रेंडिंग

अवसाद के १० लक्षण Team healthhunt
14 Nov 2016Array min read

ध्यान रखें कि नैदानिक अवसाद और उसके लक्षण एक व्यक्ति से दूसरे व्यक्ति में अलग-अलग पाए जा सकते हैं। अगर आप में आगे बताए जाने वाले एक या उससे ज्यादा लक्षण पाए जाते हैं तो इसका अर्थ ये कतई नहीं है कि आप अवसादित ही हैं।

[:en]

We use the word ‘depressed’ very lightly. ‘I didn’t get a good score in my tests, I’m depressed’. ‘My dress doesn’t fit me, I’m depressed’. But depression is so much more than just that. It does not mean occasional sadness, temporary mood swings, being upset, or loneliness. Read on for the signs of depression you should be looking out for. Who knows, you may help a friend or a family member. Or even yourself.

Keep in mind, though, that clinical depression and its symptoms can often differ from one person to another. Just because you identify, or identified, with one or more of these symptoms today or at some point in the past, does not necessarily mean that you are depressed. Depression consumes you, and doesn’t allow you to function normally, with little or no relief. The symptoms of depressions are:

  • Loss of interest in previously enjoyable things – Work, friends, hobbies, activities, sex – all these tend to hold no interest anymore.
  • Changes in appetite and weight – A 5 per cent change in body weight within a month, for unexplained reasons, may be cause for alarm. Eating too little, or too much, is a symptom of depression.
  • Changes in sleep pattern – Sleeping too little, waking up at odd hours, insomnia, or sleeping too much are also symptoms.
  • Unexplained aches and painsStomach aches, headaches, back pains, when all medical reasons have been ruled out, could be a sign of depression.
  • Negative feelings – Consistent feelings of worthlessness, hopelessness, helplessness, guilt, frustration, anger, anxiety, panic, and irritability should not be discounted. Depressed people are often overly critical of themselves, focusing on past failures, and on things that may not be their fault.
  • Self-loathing – When you start feeling that everything is your fault, that no one loves you, that you are worthless and just plain wrong, all the time, it’s time to see a doctor.
  • Reckless behaviour – People who excessively use alcohol or drugs, indulge in reckless gambling, reckless driving, or dangerous sports could be hiding their depression behind such escapist or risky behaviour.
  • Focus issues – Concentrating on even simple things seems like a herculean task. Remembering things and making decisions seems impossible.
  • Loss of energy – You could feel lethargy, fatigue, or exhaustion by doing even small tasks.
  • Thoughts, conversation, or attempting suicide – Anyone who talks or thinks of suicide or death could be displaying signs.  Anyone who attempts suicide can be considered depressed.

If any of these symptoms last for more than two weeks, contact your doctor. Depression patients usually have persistent feelings of sadness, anxiety, or of emptiness. They may often cry for no reason. A sense of impending doom is also not uncommon.

Mostly, depression symptoms in men lean towards anger, irritability, tiredness, and loss of interest in activities. In women, the symptoms may present themselves as changes in appetite and sleep patterns, feelings of guilt, worthlessness, and frustration. In young people and teens, these symptoms may show themselves as anger and irritability issues. Changes in appetite, sleep patterns, and unexplained aches and pains could also be tell-tale signs.

Depression is not something that you should take lightly or be ashamed of. Just like other diseases, this is also a medical condition and should be treated. If you are depressed, talk to a doctor. If that is not an option, talk to a friend, a family member, or anyone else that you feel comfortable with, who can provide some guidance.  

[:hi]

‘अवसादित’- इस शब्द को हम बड़े हल्के में लेते हैं। ‘मुझे परिक्षा में अच्छे नंबर नहीं मिले, इसलिए मैं अवसादित हूं’। ‘मेरे कपड़े मुझे फ़िट नहीं हो रहे हैं, इसलिए मैं अवसादित हूं’। लेकिन अवसाद इन सभी से कहीं बड़ी समस्या है। इस शब्द का अर्थ कोई प्रासंगिक दु:ख, अस्थायी मन:स्थिति में बदलाव, नाराज़ रहना या अकेलापन ही नहीं है। इसके सही-सही लक्षण जानने के लिए इस लेख पढ़ते रहें। क्या पता, आप अपने किसी मित्र या परिवार के सदस्य की मदद कर सकें। या फिर अपनी ही।

ध्यान रखें कि नैदानिक अवसाद और उसके लक्षण एक व्यक्ति से दूसरे व्यक्ति में अलग-अलग पाए जा सकते हैं। अगर आप में आगे बताए जाने वाले एक या उससे ज्यादा लक्षण पाए जाते हैं तो इसका अर्थ ये कतई नहीं है कि आप अवसादित ही हैं। अवसाद आपको अंदर ही अंदर खाता जाता है, और आपको हर तरफ से परेशान करते हुए सामान्य रूप से कोई भी कार्य नहीं करने देता। अवसाद के लक्षण इस प्रकार हैं...

  1. उत्साहपूर्वक किए जाने वाले कार्यों में ऊर्जा की कमी- नौकरी, मित्र, शौक, गतिविधियां, यौन क्रिया- इन सभी में ज़रा भी रुचि ना रह जाना।
  2. भूख और वज़न में बदलाव- एक महीने में आपके शारीरिक वज़न में बिना किसी उचित कारण के 5% तक का बदलाव आ जाना। ये आपके लिए खतरे की घंटी हो सकती है। काफी कम या कहीं ज्यादा भोजन करना अवसाद का लक्षण है।
  3. निद्रा की मात्रा में बदलाव- बहुत कम सोना, बेवक्त जाग जाना, अनिद्रा या काफी ज़्यादा सोना भी अवसाद के लक्षण हैं।
  4. अस्पष्ट पीड़ा और दर्द- बिना किसी चिकित्सिक कारण के पेट दर्द, सिरदर्द और पीठ में दर्द होना अवसाद के लक्षण हो सकते हैं।
  5. मनोभाव- हर समय खुद को बेकार समझना, निराश और असहाय महसूस करना, हर बात के लिए खुद को दोषी मानना, कुंठा, गुस्सा, चिंता, घबड़ाहट और लगातार चिढ़चिढ़ापन इन्हें भी नज़रअंदाज़ नहीं किया जाना चाहिए। अवसादित व्यक्ति आमतौर पर खुद को लेकर बहुत ज़्यादा आलोचनात्मक बन जाता है। वह अक्सर अपने भूतकाल की असफलताओं और उन बातों के बारे में भी सोचता रहता है जिसमें उसकी गलती नहीं थी।   
  6. खुद से घृणा- जब आपको हर वक्त ऐसा लगने लगे कि हर चीज़ में मेरी ही गलती थी, कोई मुझसे प्यार नहीं करता, मैं बेकार हूं और हर बार गलती करता हूं तो समझिए आपका डॉक्टर के पास जाने का समय आ गया।    
  7. लापरवाह व्यवहार- वह व्यक्ति जो काफी अधिक मात्रा में शराब और ड्रग्स लेने लगे, लापरवाह होकर जुआ खेले, लापरवाही से गाड़ी चलाए या खतरनाक खेल खेले या फिर अनिवार्य रूप से जुआ खेले तो ऐसा हो सकता है कि इन सभी की आड़ में कहीं ना कहीं वह अपने अवसाद को छिपा रहा है।
  8. ध्यान केंद्रित ना होना- अगर किसी भी साधारण सी चीज़ पर ध्यान देना भी आपको एक कठिन कार्य लगे। कोई बात याद रखना और फैसले करना असंभव सा हो जाए तो यह अवसाद के लक्षण हो सकते हैं।
  9. ऊर्जा की कमी- अवसादित व्यक्ति को हमेशा सुस्ती, आलस्य और छोटे काम करने में भी ज्यादा थकावट महसूस होती है।
  10. विचार, बातचीत और आत्महत्या के खयाल- कोई भी वह व्यक्ति जो हमेशा आत्महत्या या मृत्यु की बातें करे या उसके बारे में सोचे या फिर आत्महत्या करने की कोशिश करे।

अगर आपको इनमें से कोई भी लक्षण दो हफ्ते से ज़्यादा तक नज़र आए, तो डॉक्टर की सलाह लें। अवसाद से ग्रस्त रोगी आमतौर पर हमेशा दु:खी, चिंतित या खालीपन महसूस करता है। वह बिना किसी कारण के कई बार रोता हुआ भी पाया जा सकता है। पुरुषों में अवसाद के लक्षण ज़्यादातर गुस्सा, चिढ़चिढ़ापन, थकान, नौकरी, मित्रों और दूसरे रुचिकर कार्यों को करने की इच्छा में कमी के रूप में देखे जा सकते हैं। वहीं महिलाओं में इसके लक्षण भूख में कमी, निद्रा की मात्रा में बदलाव, खुद को दोषी मानना, बेकार समझना और कुंठा के रूप में सामने आते हैं। अगर युवाओं और किशोरों की बात करें तो उनमें अवसाद के लक्षण गुस्सा और चिढ़चिढ़ापन, भूख और निद्रा की मात्रा में बदलाव और अस्पष्ट पीड़ा और दर्द के रूप में देखे जा सकते हैं।

अवसाद जैसी गंभीर बीमारी को हल्के में नहीं लिया जाना चाहिए और ना ही इसके लिए शर्मिंदा होने की ज़रुरत है। किसी भी और बीमारी की तरह यह भी एक चिकित्सिय अवस्था है और इसका इलाज है। अगर आप अवसादित हैं तो डॉक्टर से बात किजिए। अगर आप डॉक्टर के पास नहीं जाना चाहते तो अपने किसी मित्र या परिवार के सदस्य जिसके साथ सुखद महसूस करें उससे बात कीजिये।

[:]
ध्यान रखें कि नैदानिक अवसाद और उसके लक्षण एक व्यक्ति से दूसरे व्यक्ति में अलग-अलग पाए जा सकते हैं। अगर आप में आगे बताए जाने वाले एक या उससे ज्यादा लक्षण पाए जाते हैं तो इसका अर्थ ये कतई नहीं है कि आप अवसादित ही हैं।
पोषाहार- क्या खाना है अच्छा, और क्या नहीं? Preeti Chima
07 Dec 2016Array min read

जिसके बारे में लोगों को ठीक से पता भी नहीं, उन बातों पर लोगों के विचार जानकर मैं चौंक जाती हूं- साथ ही उन आधी-अधूरी जानकारियों पर उनका आत्मविश्वास देखकर तो पूछिए मत।

[:en]

Everyone is talking about their diet plans these days. And of course, every other person you talk to is an ‘expert’ on something or the other – their source of information being the good old internet. What most people don’t realise is that just because something is trending and tops the search results, it doesn’t mean it is reliable. 

I shudder to hear people’s opinions about things they really have no clue about – and the confidence with which they impart these pearls of wisdom. This often leads to a chain of misinformed people spreading incorrect information far and wide, thus causing more harm than good to unsuspecting people. 

So let’s talk about which foods/food groups are actually good for you to eat, and which aren’t. 

First – The good:

Carbohydrates – Despite what most people believe, carbs aren’t the enemy. They are, in fact, very important for us. Think of them as the currency your body requires to carry out its transactions (any and every activity you can think of). So when I meet someone and they say they don’t eat carbs at night – I politely ask them what they do eat, and then gleefully point out that most of the foods they thought weren’t carbs actually are! Without carbs, your body will stop functioning smoothly and will eventually break down. There are some good carbs you should focus on, i.e., complex carbs. The list includes fresh fruits, vegetables, unrefined grains, and cereals. Sugar should be avoided – raw sugar/honey/jaggery is always better. About 50-70 per cent of your diet should consist of complex carbohydrates.

Protein – Say the word protein, and most people conjure up images of eggs or steak in their heads. Protein is mistakenly believed to be something only body builders need, and most people think of protein requirement as 1 of 2 extremes – 

i) Either they need to eat a diet primarily comprised of protein and get it from both natural foods and supplements (while ignoring other food groups), OR

ii) They think protein does too much damage to the kidneys, and so eat a very small quantity.

Proteins are, in fact, the building blocks of our body – everything from our cells, to our muscles, skin, hair, and nails need protein in order to be healthy. There are various sources of protein which include: 

a) Complete proteins – Dairy (milk and milk products), eggs, and meats (chicken, fish, and red meat), soy, and soybeans. 

b) Incomplete proteins – Mostly of plant origin, including grains, legumes, nuts, and seeds. 

While vegans may find it slightly harder to get complete proteins since they neither eat dairy nor eggs, vegetarians can easily get enough protein in their diet without having to take supplements. You need about 15-25 per cent protein in your diet. 

Fats – Fats have received a really bad rap in the last few years and people have started drastically cutting them out of their diets. Good fats are very important for our bodies, just as a well-oiled machine functions better than one that is not. Fat serves as a secondary fuel source for the body, forms a protective layer around vital organs, and helps in regulating body temperature. Good sources of fat include unsaturated fats i.e., almonds, avocados, and olive, peanut, canola, safflower, and soybean oils. Although palm oil & coconut oil are sources of saturated fats, they are exceptions, and are considered good for health. Your diet should have no more than 30 per cent (unsaturated) fats.

Now, for the bad:

  • Processed foods – Processed foods are bad for you, as they lose their good stuff (vitamins, minerals, and fibre) during processing.
  • Saturated and trans-fats – These include invisible fat (cream in homogenised milk, cheese) and animal fats (fat that is in animal products). Margarine, hydrogenated fats, and processed foods that have a long shelf-life are high in trans-fats, which is a big no-no.
  • Sugary and fizzy drinks
  • Deep fried foods
  • Foods which have artificial colours, and a lot of sodium
  • Foods that say diet/fat-free
  • Artificial sweeteners

I personally follow the 80/20 rule – eat healthy 80 per cent of the time, and indulge in things I like 20 per cent of the time. It’s also very important to hydrate yourself at regular intervals, and drink lots of water. 

 When following a well-balanced diet, you stop getting cravings.  Don’t forget – if you mess up, you can start over. Every day is a new day! Try your hardest to make it your lifestyle, it’s not that hard!

[:hi]

इन दिनों हर कोई अपने आहार योजनाओं के बारें में बातें कर रहा है। और हां, हर दूसरा व्यक्ति आपको किसी ना किसी चीज़ का अनुभवी भी मिल जाएगा- वे सभी इंटरनेट से मिली आधी-अधूरी जानकारी के आधार पर बातें करते हैं। लेकिन ज़्यादातर लोगों को शायद ये मालूम नहीं है कि इंटरनेट पर उनके खोज परिणामों में सबसे ऊपर आने वाली और जिसका प्रचलन चल रहा है वे जानकारियां पूरी तरह सही नहीं होतीं और उन पर विश्वास नहीं किया जा सकता। 

जिसके बारे में लोगों को ठीक से पता भी नहीं, उन बातों पर लोगों के विचार जानकर मैं चौंक जाती हूं- साथ ही उन आधी-अधूरी जानकारियों पर उनका आत्मविश्वास देखकर तो पूछिए मत। लेकिन क्या आप जानते हैं कि ये भ्रमित करने वाली चीज़ें अपनाने और फैलाने से आपके और दूसरों के शरीर को फायदा नहीं बल्कि नुकसान पहुंच सकता है। 

इसलिए यहां हम आपको उन आहारों/आहार समूहों के बारे में बताने जा रहे हैं जो वास्तव में आपके लिए अच्छी और बुरी हैं।

पहले- अच्छी चीज़ें।

  • कार्बोहाइड्रेट्स- ज्य़ादातर लोग मानते हैं कि कार्बोहाइड्रेट्स हमारे शरीर का शत्रु है लेकिन यहां मैं आपको बता दूं कि ऐसा बिल्कुल भी नहीं है। बल्कि वे हमारे लिए काफी ज़रुरी हैं। वे हमारे शरीर के लिए किसी मुद्रा की तरह हैं जो हमारे हर लेनदेन में सहायक होते हैं (शरीर का कोई भी या सभी क्रियाकलाप)। इसलिए जब मैं लोगों से मिलती हूं और वे कहते हैं कि रात के भोजन में वे कार्बोहाइड्रेट्स नहीं लेते--- तो मैं बड़े ही नम्रता से पूंछती हूं कि फिर वे क्या खाते हैं? और जब वे सारी चीज़ें गिनाते हैं तो उन्हें हंसकर समझाती हूं कि जिसे वे कार्बोहाइड्रेट्स का स्रोत समझते हैं सच में वे है ही नहीं!  

आपको बता दूं कि कार्बोहाइड्रेट्स के बिना, हमारा शरीर ठीक से कार्य ही नहीं कर सकता और फिर धीरे-धीरे समस्याएं भी उत्पन्न होने लगती हैं। ऐसे में आपको अच्छे कार्बोहाइड्रेट्स पर ध्यान देना चाहिए और वह है-- मिश्रित कार्बोहाइड्रेट्स। जिसकी सूची में ताज़े फल, सब्ज़ियां, अपरिष्कृत अनाज और धान्य आते हैं। चीनी से बचना चाहिए, उसकी जगह कच्ची चीनी/शहद/गुड़ खाना चाहिए । आपके आहार में ५०-७०% अच्छे कार्बोहाइड्रेट्स होने चाहिए ।

  • प्रोटीन- प्रोटीन इस शब्द का नाम लेते ही सभी के दिमाग में अंडे या मांस का ख़याल आ जाता है। ज़्यादातर लोगों का मानना है कि रोज़ाना व्यायाम करने वाले लोगों को ही प्रोटीन की ज़रुरत पड़ती है, जो गलत है। साथ ही प्रोटीन की ज़रुरत को लेकर नीचे बताई गई दो अवधारणाओं में से भी उनकी कोई एक अवधारणा होती है-
    - उन्हें प्रोटीन से भरे भोजन ही ग्रहण करने होंगे और इसके लिए प्रोटीन के प्राकृतिक स्रोत और अनुपूरक दोनों एक साथ लेने पड़ेंगे(यहां वे लोग प्रोटीन भोजन समूह को नजरअंदाज कर देते हैं) ।
    - उनका मानना होता है कि प्रोटीन, शरीर को नुकसान पहुंचा सकता है और इसलिए उसे कम मात्रा में ही लेना चाहिए-।

    जबकि सच्चाई इसके विपरीत है, प्रोटीन आपके शरीर के निर्माण का आधार है। शरीर में कोशिकाओं से लेकर मांसपेशियों, त्वचा, बाल और नाखून इन सभी को निरोगी रहने के लिए प्रोटीन की ज़रुरत होती है। प्रोटीन के कई स्रोत होते हैं जिनमें शामिल है-
    संपूर्ण प्रोटीन- दूध और दूध से बनी चीज़ें, अंडे और मांस (चिकन, मछली, लाल मांस), सोया और सोयाबीन।
    अपूर्ण प्रोटीन- इनमें ज़्यादातर पौधे से उत्पन्न हुई चीजें जैसे अनाज, फलियां, काजू-बादाम और बीज शामिल हैं।

    शाकाहारियों को प्रोटीन प्राप्त करने में थोड़ी परेशानी हो सकती है क्योंकि वे दूध, अंडे और मांस जैसी चीज़ें नहीं खाते। इसलिए यहां उन्हें अनुपूरक की ज़रुरत पड़ सकती है। आपके आहार में कम से कम १५-२०% प्रोटीन होना चाहिए।
  • वसा- पिछले कुछ वर्षों में वसा का नाम बदनाम हो चुका है और लोगों ने इसे अपने आहार से लगभग गायब कर दिया है। लेकिन अच्छा वसा आपके शरीर के लिए ज़रुरी है, इसे ऐसे समझें कि जिस तरह किसी भी मशीन में तेल डालने से वो अच्छा चलता है, ठीक उसी तरह वसा आपके शरीर के लिए दूसरा बड़ा ईंधन होता है। यह आपके महत्त्वपूर्ण अंगों पर रक्षात्मक कवच बनाता है और आपके शारिरीक तापमान को नियंत्रित रखने में मदद करता है। असंतृप्त वसा प्रदान करने वाले जैतुन, मूंगफली, राई, कुसुम और सोयाबीन का तेल, बादाम और रुचिरा ये सभी वसा के अच्छे स्रोत हैं। ताड़ का तेल और नारियल तेल वैसे तो संतृप्त वसा के स्रोत हैं लेकिन इनका सेवन भी आपके स्वास्थ्य के लिए लाभकारी है। आपके आहार में ३०% से ज़्यादा वसा (असंतृप्त) नहीं होना चाहिए।  

अब बात बुरे आहारों की।

  • प्रसंस्कृत चीज़ें- प्रसंस्कृत आहार आपके शरीर के लिए नुकसानदेह है क्योंकि प्रसंस्करण के दौरान इनके पोषक तत्व (विटामिन, खनिज और रेशे) नष्ट हो जाते हैं। 
  • संतृप्त और ट्रांस-वसा- इनमें अदृश्य वसा आता है (एकरूप किए हुए दूध की मलाई, पनीर) और पशु वसा (पशु उत्पादों में पाया जाने वाला वसा)। वहीं कृत्रिम मक्खन, हाइड्रोजनीकृत वसा और उच्च ट्रांस-वसा युक्त प्रसंस्कृत आहार जो जल्दी खराब नहीं होते, वह तो आपको खाना ही नहीं है। 
  • चीनी और गैस युक्त पेय
  • तेल में तली हुई चीज़ें
  • अप्राकृतिक रंग मिले हुए और ज़्यादा सोडियम युक्त पदार्थ
  • वे चीज़ें जिन पर वसा रहित/संतुलित आहार लिखा हो
  • अप्राकृतिक मिठास पैदा करने वाले पदार्थ

निजी तौर पर मैं ८०-२० नियम का पालन करती हूं- यानी ८०% गुणकारी आहार और २०% अपने पसंद की चीजें खाती हूं। अपने शरीर में पानी की मात्रा को भी पूर्ण रखना काफी ज़रुरी होता है इसलिए नियमित अंतराल पर पानी पीते रहना चाहिए।

जब आप एक अच्छे-संतुलित आहार को अपनाते हैं, तो आपको बार-बार भूख भी नहीं लगती। हालांकि, ऐसा करते समय हो सकता है आप कई बार चूक भी जाएं। लेकिन कोई बात नहीं आप फिर से एक नई शुरुआत कर सकते हैं! अपनी जीवन शैली को संवारने के लिए आपको जितनी मुश्किलें उठानी पड़ें उठाएं, वैसे यह करना इतना मुश्किल भी नहीं है!

[:]
पोषाहार- क्या खाना है अच्छा, और क्या नहीं?
जिसके बारे में लोगों को ठीक से पता भी नहीं, उन बातों पर लोगों के विचार जानकर मैं चौंक जाती हूं- साथ ही उन आधी-अधूरी जानकारियों पर उनका आत्मविश्वास देखकर तो पूछिए मत।
आपके शरीर को सर्वश्रेष्ठ बनाने में मदद करने वाले 6 स्वस्थ कल्याणकारी त्वरित नुस्खे Mansi Kohli
15 Dec 2016Array min read

जीवन में कुछ चीजें सच में अच्छी होती हैं लेकिन हम उनकी तरफ गंभीरता से ध्यान नहीं देते। यहां हमने उन सभी चीजों की एक सूची बनाने की कोशिश की है जो आपके कल्याणकारी जीवन के सफर में बिना ज़्यादा मेहनत के एक नई जान फूंकने में काफी कारगर साबित हो सकती हैं।

[:en]

Hacking, literally speaking, refers to the art and science of free and discounted services or items, in order to gain personal benefit. But what if we told you that you could hack a few wellness tweaks in your everyday life, in order to not only experience a real jolt of energy, but also to feel your best, day in and day out, mentally and physically? Believe us, some things in life aren’t that good to be true, they are just seriously ignored. Here’s our list of things that we have found super helpful in perking up the wellness meter, without much effort.

  • This 2-minute morning ritual can give you 200 times energy – We are talking about the age-old proven method of drinking warm lemon water within 30 minutes of waking up. You can also add in half a tablespoon of organic honey to this miracle drink for a boost to your immune system, to improve digestion, and for healthier skin. Quite an energy boost, studies also recommend completely replacing your early morning coffee or tea with lemon and honey water for proven and effective health benefits. 
  • Shoes outside please, for a bacteria-free space – An act that is practiced religiously in many Indian households, removing your shoes when you enter the house not only helps in keeping nasty bacteria, such as E. coli and meningitis, at bay; but it also helps in stimulating positive energies. As per a few latest studies, it’s been observed that your shoes might carry Escherichia coli bacteria, which is linked directly to urinary tract and intestinal infections, along with diarrheal diseases. 
  • Walk the talk for a fitter you – Attempt at taking your phone calls up a notch by walking at a steady level. This wellness act is believed to not only have an instant mood-lifting and mood-changing value, but also assists in releasing stress and adding to your physical activity of the day.
  • Unplug your devices for plugging in good health – However tempted you might be to rush and plug them back in, the act of unplugging your devices and staying away from the constant twiddling is indeed a symbolic one. This way you can channelise your energy on something positive and joyful, say you might paint, sing a song, play a game, or simply spend time by having a meaningful face-to-face conversation with your significant other or a friend. One never knows, you might start looking forward to your powerless hour!
  • Unleash the power of oil pulling – This ancient ayurvedic practice dates back to 3,000 years, and is said to whiten your pearly whites by perking your energy, flushing out your toxins, and boosting your immune system and heart health. All you have to do is take one tablespoon of virgin coconut oil, and swish it around your mouth for 10-15 minutes. 
  • Utilise your daily commute hour to prosper (yes, that’s possible!) – Listen to holy songs, tune into meditative sounds, or the sounds of nature to kick-start your day on a positive note. It’s all because the more good you take in, the more good you deliver, which in turn boosts your mental health and overall wellness. 
[:hi]

 

त्वरित उपाय, इसका मतलब एक ऐसी कला या विज्ञान होता है जो आपको मुफ्त या छूट वाली ऐसी सुविधाएं प्रदान करे जिससे आपके व्यक्तित्व को सुधारने में काफी मदद मिले। लेकिन कैसा हो कि मैं यहां आपको बताऊं कि आप ये सारी चीजें किसी से चुरा सकते हैं जो आपको रोज़मर्रा के जीवन में ना सिर्फ अधिक ऊर्जावान बल्कि आपको सर्वश्रेष्ठ बना दें, और वह भी सिर्फ एक या दो दिनों में, मानसिक और शारिरीक दोनों तौर पर? आपको विश्वास नहीं हो रहा होगा लेकिन भरोसा किजिए, क्योंकि जीवन में कुछ चीजें सच में अच्छी होती हैं लेकिन हम उनकी तरफ गंभीरता से ध्यान नहीं देते। यहां हमने उन सभी चीजों की एक सूची बनाने की कोशिश की है जो आपके कल्याणकारी जीवन के सफर में बिना ज़्यादा मेहनत के एक नई जान फूंकने में काफी कारगर साबित हो सकती हैं। 

  1. यह दो मिनट की सुबह की काफी पुरानी पद्धति आपकी ऊर्जा को २०० गुना बढ़ा सकती है- यहां हम काफी दशक-पूर्व अपनाए गए उस पद्धति के बारे में बात कर रहे हैं जहां सोने से उठने के ३० मिनट भीतर ही गर्म नींबू पानी पीया जाता था। अपने प्रतिरक्षा तंत्र को बढ़ाने, पाचन-शक्ति को सुधारने और  निरोगी त्वचा के लिए आप इस चमत्कारी पेय में एक बड़ा चम्मच जैविक शहद भी मिला सकते हैं। ये काफी ऊर्जा प्रदान करने वाला पेय है, कई अध्ययन भी इसका सुझाव देते हैं कि आप सुबह उठकर चाय या कॉफी पीने के बजाय शहद के साथ नींबू पानी ग्रहण करें तो आपके स्वास्थ्य पर इसके कई चमत्कारी फायदे आपको देखने को मिलेंगे। 
  2. आसपास की जगहों को जीवाणु-मुक्त रखने के लिए जूते घर से बाहर ही निकालें- ज़्यादातर भारतीय घरों में इस क्रिया को धार्मिक आधार पर किया जाता है कि वे घर में प्रवेश करने से पहले बाहर ही अपने जूते-चप्पल निकाल देते हैं। ये एक बहुत अच्छी आदत है क्योंकि इससे ना सिर्फ ई. कोली और मस्तिष्क को बीमार करने वाले अनचाहे जीवाणुओं को बाहर किया जा सकता है बल्कि ये क्रिया आपके भीतर एक सकारत्मक ऊर्जा भी भर देती है। हाल के कई ताज़ा अध्ययनों में यह साबित हुआ है कि आपके जूते-चप्पल के माध्यम से इस्चेरिचिया कोली रोगाणु आपके घर के भीतर पहुंच सकते हैं। जिसकी वजह से आपको डायरिया के साथ-साथ मूत्रमार्ग और आंत संक्रमण जैसी बीमारियां हो सकती हैं। 
  3. तंदुरुस्त बने रहने के लिए चलते-चलते बातें करें- अपने फोन कॉल्स को एक स्थिर अवस्था में चलते-चलते उठाएं और बातें करें। इस गुणकारी क्रिया से ना सिर्फ आपकी मन:स्थिति में तुरंत सुधार और बदलाव आएगा बल्कि ये आपके भीतर के तनाव को भी जल्द कम करेगा और आपके दिनभर के शारिरीक कसरत को भी बढ़ाएगा।
  4. अपने स्वास्थ्य के सही तार जोड़ने के लिए गलत तारों को अलग करें- आप भले ही उस उपकरण(कंप्यूटर, टैबलेट, वीडियो गेम्स. मोबाइल फोन, आदि) से जल्द से जल्द जुड़ने के लिए बेताब हो रहे हों लेकिन उनसे ना जुड़ना ही समझिए तो आपके स्वास्थ्य के लिए बेहतर है। क्योंकि, ऐसा करके आप उस ऊर्जा को किसी और सकारात्मक और उत्साहवर्धक कार्य में इस्तेमाल कर पाएंगे। उदाहरण के तौर पर पेंट करने, गीत गाने, कोई खेल खेलने या फिर सामान्य रूप से कहीं किसी मित्र से आमने-सामने बातचीत करने में। कोई नहीं कह सकता कि इनमें से कोई एक कार्य शायद आपको और शक्तिशाली बनाने में मददगार साबित हो। 
  5. अपने भीतर के तेल पीने की शक्ति उजागर करें- ये ३००० वर्ष पूर्व की एक आयुर्वेदिक क्रिया है जिसके बारें में कहा जाता है कि अपनी ऊर्जा को दबाकर आप अपने भीतर के मोती को और सफेद, यानी और चमका सकते हैं। इसका सीधा मतलब यह है कि आप अपने शरीर के विषैले तत्वों को बाहर निकालें और अपने मानसिक और हृदय स्वास्थ्य को मजबूत बनाएं। इसके लिए आपको बस इतना करना है कि अपने मुंह में एक बड़ा चम्मच शुद्ध नारियल तेल लें और उसे १०-१५ मिनट तक हिलाएं और फिर पी लें। 
  6. अपने रोज़ाना के सफर को, खुद को निखारने के लिए इस्तेमाल करें (हां, यह मुमकिन है!)- जब आप घर से सुबह काम करने निकलें तो धार्मिक गाने या फिर ध्यानमग्न कर देने वाली धुन सुनें। इससे आपके दिन की एक सकारात्मक शुरुआत होगी। क्योंकि याद रखिए, प्रकृति का नियम ही यही है कि जितना अच्छा आप भीतर ग्रहण करेंगे उतना ही अच्छा आप में से बाहर निकलेगा। जिससे आपके मानसिक और शारीरिक के साथ-साथ आपका संपूर्ण कल्याण होता है। 
[:]
आपके शरीर को सर्वश्रेष्ठ बनाने में मदद करने वाले 6 स्वस्थ कल्याणकारी त्वरित नुस्खे
जीवन में कुछ चीजें सच में अच्छी होती हैं लेकिन हम उनकी तरफ गंभीरता से ध्यान नहीं देते। यहां हमने उन सभी चीजों की एक सूची बनाने की कोशिश की है जो आपके कल्याणकारी जीवन के सफर में बिना ज़्यादा मेहनत के एक नई जान फूंकने में काफी कारगर साबित हो सकती हैं।
Shivalik Pain Massage Oil Krishan Singh
29 Jun 2017Array min read

Formula for joints. Delivers an exclusive blend of over a dozen natural joint-health ingredients that can help: · Support the health of connective tissue · Protect joints from age-related wear and tear · Maintain healthy joints · Promote flexibility

[:en]Formula for joints. Delivers an exclusive blend of over a dozen natural joint-health ingredients that can help: · Support the health of connective tissue · Protect joints from age-related wear and tear · Maintain healthy joints · Promote flexibility [:hi]Formula for joints. Delivers an exclusive blend of over a dozen natural joint-health ingredients that can help: · Support the health of connective tissue · Protect joints from age-related wear and tear · Maintain healthy joints · Promote flexibility [:]
Shivalik Pain Massage Oil
Formula for joints. Delivers an exclusive blend of over a dozen natural joint-health ingredients that can help: · Support the health of connective tissue · Protect joints from age-related wear and tear · Maintain healthy joints · Promote flexibility
Pure Nutrition Rooibos Vanilla Tea Pure Nutrition
08 Sep 2017Array min read

When you sip our Rooibos Vanilla Tea, you will be transported to a sublime dessert heaven minus the very sinful calories and excessive caffeine hit. With an abundance of antioxidants such as aspalathin, nothofagin, polyphenols, and flavanols.

[:en]When you sip our Rooibos Vanilla Tea, you will be transported to a sublime dessert heaven minus the very sinful calories and excessive caffeine hit. With an abundance of antioxidants such as aspalathin, nothofagin, polyphenols, and flavanols. [:hi]When you sip our Rooibos Vanilla Tea, you will be transported to a sublime dessert heaven minus the very sinful calories and excessive caffeine hit. With an abundance of antioxidants such as aspalathin, nothofagin, polyphenols, and flavanols. [:]
Pure Nutrition Rooibos Vanilla Tea
When you sip our Rooibos Vanilla Tea, you will be transported to a sublime dessert heaven minus the very sinful calories and excessive caffeine hit. With an abundance of antioxidants such as aspalathin, nothofagin, polyphenols, and flavanols.
क्या ट्रेंडिंग है देखे HH आर्टिकल्स अपने इनबॉक्स में पायें

आपके लिए टॉप तस्वीरें

कार्ड लोड हो रहा है....

सबसे नया

कार्ड लोड हो रहा है....

अपनी प्रतिभा शेयर करें!

हमारे लिए लिखें

पिछले सप्ताह

कार्ड लोड हो रहा है....

पिछले महीने

कार्ड लोड हो रहा है....

पुराने लेख

कार्ड लोड हो रहा है....

0 चयनित
Ask the Experts

Some things to keep in mind

Have a question related to the following? We’d love to help. Please submit your query, and feel free to leave your name or choose the option of staying anonymous. If our team of experts are able to respond, you will be notified via email, and an article might be published with the response.



  • Nutrition
  • Fitness
  • Organic Beauty
  • Mental Wellbeing
  • Love
Cancel

Keep me anonymous. Cancel

Thank you! We look forward to answering your question.

All responses can be seen in the ‘My Hunts’ section.

Write for Us

Mental Wellbeing

Today, what we all need most is peace of mind, and mind you, it doesn’t come easy. To find tranquility, you must let go, and to learn to do that, you must embark on a journey for your own sake. We know that being healthy means so much more than just a healthy body. It means a healthy mind – a state of complete mental wellbeing. We welcome personal experiences, expert views, meditation techniques, and other holistic ways of achieving mindfulness.

Nutrition

The human body is perfectly designed by nature, and how we fuel it is important. In order to climb the Everest, backpack around the globe, get that promotion, break the world record for baking the largest apple pie, or anything else that you want to do in life – it is important that you and your body are on the same page. And surprisingly enough, of all aspects of health, nutrition is the most ignored or misinterpreted. No more fad diets, ‘magical detoxes’, or weight-loss powders. Nutrition is simple science...and lots of taste. Submissions within this category will include articles on health through foods, recipes, juices and smoothies, and natural and sustainable ways to achieve weight goals.

Fitness

We walk, run, swim, cycle, dance, workout – all to stay fit. Even though the end goals may be different for everyone, fitness, at the end of the day, means something that promises a healthy, fulfilling life. It means training your body to do better each day in whatever ways you want it to. Submit within this category if your article is to do with any form of physical fitness like yoga, running, muscle building, a success story, or any aspect of physical health.

Organic Beauty

Most of what you put on your skin is absorbed right into the bloodstream (Need proof? Think nicotine patches, or birth control patches). This is why a lot of the world is going back to their roots. Think organic. Think of all gifts of nature you could use, that could enrich your body, without all the chemicals and preservatives. Organic beauty is taking a stand for yourself – it is a lifestyle. If you have written about hair, skin, natural remedies, ayurveda, or alternate therapies, this is where you need to be.

Love

Love for a friend, family member, or lover – all such profound, complex emotions and connections. Oh love, love, love! It has the power to heal the soul, make a saint out of a criminal, and basically, just bring a smile to your face even on the most dismal of days. There are no rules, no laws, no policies, and absolutely no one manual when it comes to relationships. But oh, wouldn’t we all like a little help once in a while? Our broad categories include relationships, friendship, dating, sex, parenting, and other aspects of love.

Nutrition
Upload media Upload article
Cancel By pressing ‘Preview’ button, I agree to healthhunt’s quality content guidelines and I adhere to the terms and conditions and privacy policy.
Media Upload

Healthhunt currently supports media uploads in .jpg, .png, .mov, .mp4 formats. Recommended aspect ratio is 16:9
Article Upload

Healthhunt currently supports article uploads in txt, doc and docx formats. Kindly check our writing tips to get the most out of your articles.
by
0
Upload successful!

Thank you for your submission. Your post will be visible after approval from the healthhunt team.

All responses can be seen in ‘my hunts’ section. Cancel